ब्रेक्सिट में विफलता लोकतंत्र पर ‘भरोसे का अनर्थकारी’ उल्लंघन होगा : थेरेसा मे

लंदन डेस्क/ ब्रिटिश प्रधानमंत्री थेरेसा मे ने चेतावनी देते हुए कहा कि ब्रेक्सिट मामले में विफल होना ‘लोकतंत्र के प्रति भरोसे का अनर्थकारी व अक्षम्य उल्लंघन होगा।’ ख़बरों के मुताबिक, एक समाचार पत्र में लिखे एक आलेख में मे ने सांसदों से उनकी ब्रेक्सिट डील को मंगलवार को वोट के दौरान समर्थन देने की अपील की।

उन्होंने कहा कि ऐसा नहीं करने से यूरोपीय संघ (ईयू) से ब्रिटेन के बिना किसी समझौते के अलग होने या फिर ब्रेक्सिट नहीं होने का जोखिम होगा। मे ने कहा कि उनके ब्रेक्सिट समझौते पर हाउस ऑफ कॉमन्स में वोट करना ‘हमारी पीढ़ी के किसी भी सांसद के लिए सबसे बड़ा और महत्वपूर्ण फैसला होगा।’

ब्रेक्सिट मुद्दे पर यूरोपीय संघ के साथ हुए थेरेसा मे के समझौते पर होने वाले मतदान में मे की हार की संभावना है। मे ने कहा, “जब आप जनमत संग्रह में मतदान करने के लिए निकले थे, तो आपने ऐसा इसलिए किया क्योंकि आप चाहते थे कि आपकी आवाज सुनी जाए।”

उन्होंने कहा, “आप में से कुछ ने दशकों में पहली बार राजनीतिक प्रक्रिया में अपना भरोसा जताया है। हम आपको बिल्कुल निराश नहीं कर सकते।” प्रधानमंत्री ने कहा, “ऐसा करना हमारे लोकतंत्र में भरोसे का एक अनर्थकारी और अक्षम्य उल्लंघन होगा।” उन्होंने कहा, “इसलिए इस सप्ताह के अंत में संसद के लिए मेरा संदेश सरल है : यह समय वह करने का है जो हमारे देश के लिए सही है।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *