योगी सरकार का बजट सिर्फ आंकड़ों में अच्छा, जमीन पर नहीं : अखिलेश

लखनऊ डेस्क/ समाजवादी पार्टी (सपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने योगी सरकार के बजट को सिर्फ आकड़ों में अच्छा करार देते हुए भाजपा सरकार को उनका संकल्प पत्र याद दिलाया। अखिलेश ने कहा कि प्रदेश सरकार का बजट सिर्फ आकड़ों में अच्छा लग सकता है लेकिन जमीन पर नहीं क्योंकि सच्चाई इससे परे है। उन्होंने कहा कि पिछले दो बजट जमीन पर कहीं दिख नहीं रहे हैं। उन्होंने कहा कि सरकार ने उन्हीं योजनाओं को अपनी उपलब्धि बताई जो कि सपा सरकार में शुरू की गई थीं।

सरकार को भाजपा का संकल्प पत्र याद दिलाते हुए कहा कि 60 फीसदी बजट जारी हो चुका इसलिए संकल्प पत्र याद दिलाना जरूरी है। इस सरकार में बेरोजगार के साथ रोजगार करने वाले भी परेशान हैं। अखिलेश ने कहा कि ये लोग बताएं कि युवाओं को कितना रोजगार दिया गया।

उन्होंने कहा कि भाजपा ने 14 दिन में किसानों का भुगतान का वायदा किया था जबकि हकीकत ये है कि पिछला गन्ना भुगतान अभी नहीं हुआ। उन्होंने कहा कि भाजपा के लोग सरकार बनने पर अपना संकल्प पत्र भूल गए हैं। 5 वर्ष में 70 लाख नौकरियां दी जानी थी, वह भी भूल गए। अखिलेश ने कहा कि अब चाहे जितनी घोषणाएं कर लें इनकी सत्ता में वापसी नहीं होगी। बेरोजगार युवा सरकार को उखाड़ फेकेंगे।

शुक्रवार को सपा मुख्यालय पर मीडिया को सम्बोधित करते हुए अखिलेश ने योगी सरकार को कानून-व्यवस्था के मसले पर घेरा और कहा कि बीजेपी ने एक वर्ष के अंदर पुलिस भर्ती का संकल्प लिया था। थानों को अत्याधुनिक किया जाना था। आज थाने हाईटेक होने की जगह थानों व जेलों में हत्या व वसूली होने लगी है।

उन्होंने कहा कि महिलाओं के ऊपर सबसे ज्यादा घटनाएं बीजेपी सरकार में हुई। अखिलेश ने मुख्यमंत्री योगी पर कटाक्ष करते हुए कहा कि और यह सब त्यागी संन्यासी सीएम के राज्य में हो रहा है। उन्होंने कहा कि सरकार के आदेशों पर सड़कें गड्ढामुक्त तो नहीं हुई ठेकेदार जरूर खुश हैं। प्रदेश में हाईवे पर काम नहीं हो रहा है। उन्होंने कहा कि हम तो काम बोलता है कहते-कहते थक गए, लेकिन काम नहीं बोला। ऐसे में इनके फर्जी आंकड़े कैसे बोलेंगे। उन्होंने कहा कि हम जब कुंभ स्नान करने गए थे तो गंगा मइया की कसम खाई थी कि अगर हमारी सरकार आती है तो हम जाति आधारित आकड़े जारी करेंगे।

कुशीनगर व सहारनपुर में जहरीली शराब से हुई मौतों पर अखिलेश ने कहा कि इसके लिए कोई पार्टी जिम्मेदार नहीं है बल्कि सरकार जिम्मेदार है। सरकार को पता है कि ऐसी शराब कौन लोग बनाते हैं। जांच करेंगे तो यही पता चलेगा कि इसमें भाजपा के लोग शामिल हैं। उन्होंने कहा कि जितना शराब का काम चल रहा उसमें सरकार और भाजपा के लोग शामिल हैं।

मुख्यमंत्री योगी के सपा सरकार में सिर्फ पांच जिलों में बिजली आने के आरोप पर अखिलेश ने कहा कि सरकार को इसके आंकड़े जारी करने चाहिए। कम से कम एक योगी और संन्यासी से हम उम्मीद नहीं करते कि लोकतंत्र के मंदिर में झूठ बोलें। बसपा मुखिया मायावती के हाथियों पर सुप्रीम कोर्ट के निर्णय पर अखिलेश ने कहा कि इस मामले में अधिवक्ता अपना जवाब देंगे। साथ ही जोड़ा कि ये याद रखना लोकभवन में भी किसी की मूर्ति लग रही।

इससे पहले अखिलेश के समक्ष पार्टी मुख्यालय में सहारनपुर की पूर्व विधायक सहित जेडीयू, भाजपा, आरजेडी, अपना दल एस के कई नेता व अलीगढ़ मुस्लिम युनिवर्सिटी के छात्र नेता सपा में शामिल हुए। पार्टी में शामिल हुए नेताओं का स्वागत करते हुए अखिलेश ने कहा कि सभी लोग सपा-बसपा गठबंधन के प्रत्याशियों की मदद करेंगे। सपा-बसपा का गठबंधन समाजवादी गांठ है, और यह गांठ आगे भी जारी रहेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *