हैती के अनाथालय में आग लगने से 15 बच्चों की मौत

पोर्ट-औ-प्रिंस डेस्क/ अमेरिका की एक गैर लाभकारी ईसाई संस्था द्वारा हैती में संचालित एक अनाथालय में आग लगने से कम से कम 15 बच्चों की मौत हो गई। ख़बरों के मुताबिक, एक वरिष्ठ अधिकारी ने शुक्रवार को बताया कि पोर्ट-औ-प्रिंस के बाहरी इलाके में स्थित अनाथालय में गुरुवार रात आग लगने से दो बच्चों की उनके कमरों में मौत हो गई, जबकि 13 अन्य ने सांस लेने में तकलीफ के बाद पास के अस्पताल में दम तोड़ दिया।

अधिकारी ने कहा, “दुर्भाग्य से, फेरमथ अस्पताल जहां बच्चों को भर्ती किया गया था, वह ज्यादा कुछ नहीं कर सका। वे वहां पहुंचने से पहले ही गंभीर स्थिति में थे और ठीक से सांस नहीं ले पा रहे थे।” दो मंजिला इमारत में हॉलवे में एक बोर्ड पर छोड़ी गई मोमबत्ती को आग लगने का कारण माना जा रहा है। आग इमारत के ग्राउंड फ्लोर से होकर फैल गई और एक बेडरूम और अन्य कमरों को पूरी तरह से जला कर खाक कर दिया, लेकिन धुंए ने दूसरी मंजिल को भी प्रभावित किया जहां अन्य बेडरूम स्थित थे।

66 बच्चों को रखने की क्षमता वाले अनाथालय को पिछले 40 वर्षों से पेंसिल्वेनिया स्थित एक ईसाई संगठन चर्च ऑफ बाइबल अंडरस्टैंडिंग द्वारा संचालित किया जाता रहा है। पोर्ट-औ-प्रिंस के उपनगर, पेतियेन-विले में स्थित, अनाथालय के पास संचालन करने का लाइसेंस नहीं था। बदहाल देश हैती में यह सामान्य बात है, क्योंकि देश के 754 अनाथालयों में से केवल 35 के पास लाइसेंस है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *